Birth Certificate And Death Certificate: जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए अब नहीं पड़ेगी Aadhar Card की जरूरत

Birth Certificate And Death Certificate:आधार कार्ड, जब नाम में ही आधार (Aadhar) हो तो स्वाभाविक है यह कई सारे काम मे आधार रूप काम आत होगा। मतलब यह एक ऐसा महत्व पूर्ण डॉक्यूमेंट है जो आपके लगभग सब कार्यों में अनिवार्य रूप से उपयोग में आता है। सरकारने ज्यादातर सरकारी कार्यों में आधार कार्ड (Aadhar Card) का उपयोग अनिवार्य कर दीया है जिसके कारण इसकी उपयोगिता ओर मूल्य बहुत बढ़ गया है।

Birth Certificate And Death Certificate

Birth Certificate And Death Certificate

लेकिन सरकार ने आधार कार्ड के उपयोग के बारे मे बड़ी अपडेट दी है। नए नियम के अनुसार अब Birth Certificate And Death Certificate बनवाने के लिए आधार कार्ड (Aadhar Card) अनिवार्य नहीं है। जिसका मतलब अगर आप इसका उपयोग न करे तो भी चलेगा |

Birth Certificate And Death Certificate के रजिस्ट्रेशन (Registration) के लिए आधार कार्ड (Aadhaar Card) के डिटेल्स को अब ऑप्शनल बना दिया गया है। मतलब अब आप पर निर्भर करता है कि आप आधार कार्ड की डिटेल्स भरना वहहते है या नहीं |

अब आप इन दोनों सर्टिफिकेट के लिए जब रजिस्ट्रेशन करने जाएंगे तब आप पर निर्भर होगा कि आप सर्टिफिकेट के रजिस्ट्रेशन में आधार डीटेल्स वेरिफिकेशन के लिए देना चाहते हैं या नहीं। दरअसल, सरकार वेरिफिकेशन प्रोसेस इसलिए करती है ताकि मृत्यु की स्थिति में परिवारवालों की पहचान करने में आसानी हो। सरकार द्वारा 27 जून को जारी किए गए गैजेटेड नोटिफिकेशन (Gazetted Notification) में यह ऐलान किया गया है.

Electronics And IT Department :

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के द्वारा भारत के रजिस्ट्रार जनरल ऑफिस को बर्थ और डेथ सर्टिफिकेट के दौरान दिए गए पहचान डिटेल्स को वेरीफाई के लिए आधार डेटाबेस को इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी गई है

Gazetted Notification:

पब्लिश होने के बाद राज्य सरकार एवं केंद्र शासित प्रशासन (State Government And Union Territory) को भी इस नियम को लागू करने के लिए निर्देश जारी करने का आदेश दिया गया

Birth Certificate And Death Certificate रजिस्ट्रेशन प्रोसेस में आधार वेरिफिकेशन को शामिल करने के पीछे सरकार का कहना है कि वह आंकड़ों की सटीकता एवं विश्वसनीयता सुनिश्चित करने के लिए आधार प्रमाणीकरण (Aadhaar Verification) को बढ़ावा दे रही है। आपको बता दें कि यूआईडीएआई (UIDAI) ने बच्चों को जन्म प्रमाण पत्र (Birth Certificate) देने के साथ ही आधार कार्ड इशू करने का भी नियम बनाया था। यह नियम 2020 में बना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *